Danish Azad Ansari Minister : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने किसी मुस्लिम (Muslim Minister) को पार्टी का टिकट नहीं दिया था, हालांकि अपना दल सोनेलाल से हैदर अली को स्वार सीट से आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम के खिलाफ चुनाव लड़ाया गया, लेकिन वो हार गए. अब यूपी में योगी आदित्यनाथ के नए मंत्रिमंडल (Yogi Adityanath Cabinet) में दानिश आजाद अंसारी की नए मुस्लिम चेहरे के तौर पर एंट्री हो गई है. इससे पहले अल्पसंख्यक नेता मोहसिन रजा को यूपी की पिछली सरकार (UP Minister) में मंत्री बनाया गया था. दानिश आजाद अंसारी बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा में प्रदेश महामंत्री हैं.  जिन्हें योगी 2.0 में बड़ी जिम्मेदारी मिली है. बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के महामंत्री और बलिया के युवा नेता दानिश आजाद अंसारी को मंत्री बनाया गया है. वे अभी बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश महामंत्री है और विद्यार्थी जीवन से ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े रहे हैं. मोहसिन रजा को हटाया गया है. मोहसिन रजा (Mohsin Raza) योगी आदित्यनाथ की पिछली सरकार में अल्पसंख्यक कल्याण मुस्लिम वक्फ और हज मंत्री थे. 

पूर्वांचल से ताल्लुक रखते हैं दानिश

उत्तर प्रदेश सरकार में भाषा समिति के सदस्य और बलिया जनपद के निवासी दानिश आज़ाद को पार्टी बड़ी जिम्मेदारी देते हुए योगी सरकार 2 में मंत्री बनाया है. दानिश आज़ाद लंबे समय से राजनीति में सक्रिय हैं, लखनऊ विश्वविद्यालय में छात्र राजनीति से अपनी राजनीतिक पारी शुरू करने वाले दानिश आज़ाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में विभिन्न पदों पर रहे. यूपी. में बीजेपी सरकार आने के बाद उन्हें भाषा समिति का सदस्य बनाया गया. आज़ाद लगातार अल्पसंख्यक समाज और युवाओं में लगातार सक्रिय बने रहते है. इसी नाते 2022 के विधानसभा चुनावों में पार्टी को मिली जीत को देखते हुए मंत्री का पद दिया जा सकता है. दानिश आज़ाद हर मौके पर पार्टी के शीर्ष नेतृत्व का आभार व्यक्त करते रहते हैं.

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के प्रदेश महामंत्री

उन्होंने कहा था कि उत्तर प्रदेश में योगी जी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार अल्पसंख्यको व युवाओ के विकास के लिए वचनबद्ध है, शिक्षा के स्तर में विकास व अल्पसंख्यको के लिए कल्याणकारी योजनाओं का संचालन सरकार की प्राथमिकता है.दानिश आजाद को मंत्रिमंडल में शामिल करके लिए सुबह फोन आया था, उनको भी मुख्यमंत्री आवास बुलाया गया. अब वो मंत्री बने हैं. पिछले साल उत्तर प्रदेश सरकार में भाषा समिति के सदस्य व बलिया जनपद के निवासी दानिश आजाद को पार्टी ने बड़ी जिम्मेदारी देते हुए भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के प्रदेश महामंत्री का पद दिया था. वे लंबे समय से राजनीति में सक्रिय हैं. उन्होंने लगातार अल्पसंख्यक समाज व युवाओ में अपनी सक्रियता दिखाई है. इसको देखते हुए पार्टी ने उन्हें प्रमोट किया है. 

दानिश आजाद अंसारी कौन हैं?

दानिश अंसारी को योगी आदित्यनाथ का करीबी माना जाता है. वे एबीवीपी के लंबे समय से कार्यकर्ता रहे हैं. इसके अलावा वे यूपी सरकार की फखरुद्दीन अली अहमद मेमोरियल समिति के सदस्य भी रह चुके हैं.अंसारी ने अपनी शुरुआती पढ़ाई बलिया से और ग्रेजुएशन लखनऊ से किया है. दानिश आजाद अंसारी बलिया के बसंतपुर के रहने वाले हैं.

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × 3 =